स्वास्थ्य देखभाल

शिक्षा की तरह ही स्वास्थ्य देखभाल भी जनहित से जुड़ा है। पूर्ण स्वास्थ्य सुविधा हर नागरिक - बच्चे, वयस्क और वरिष्ठ नागरिक का अधिकार है। स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करना केंद्र और राज्य सरकारों की साझा ज़िम्मेदारी  है।

  1. कांग्रेस वादा करती है कि वर्ष 2023-24 तक स्वास्थ्य सुविधाओं पर कुल सरकारी खर्च को दोगुना बढ़ाकर सकल घरेलू उत्पाद का 3 प्रतिशत किया जायेगा। 2023-24 तक लक्ष्य हासिल करने के लिए हर साल सालाना बजट में इस मद में वृद्धि के साथ इसका संकेत मिलेगा।
  2. कांग्रेस ने सभी के लिये स्वास्थ्य का अधिकार कानून लागू करने का वादा किया है, जो हर नागरिक को स्वास्थ्य सेवाओं, जिनमें मुफ्त डायग्नोसिस, बहिरंग (ओ.पी.डी.) रोगी देखभाल, दवाओं और सार्वजनिक अस्पतालों तथा सूचीबद्ध निजी अस्पतालों के व्यापक नेटवर्क के जरिये भर्ती सुविधाओं के अधिकार की गारंटी मिलेगी।
  3. हमारा ये पक्का मानना है कि हमारे देश में सभी को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिये बीमा आधारित मॉडल, पसंदीदा मॉडल कतई नहीं हो सकता है। कांग्रेस सभी को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए मुफ्त सार्वजनिक अस्पताल-मॉडल को तेजी से बढ़ावा देने और लागू करने का वादा करती है।
  4. कांग्रेस मुफ्त डायल-इन-एम्बुलेंस सेवा का विस्तार करेगी और भारत के सभी जिलों में ज्यादा से ज्यादा एम्बुलेंस को सड़क पर उतारेगी।
  5. सभी राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर यात्रियों के साथ-साथ आसपास के इलाकों की आबादी की जरुरतों को पूरा करने के लिए ट्रॉमा और आपातकालीन केंद्र स्थापित किये जायेंगे।
  6. हम सभी सार्वजनिक अस्पतालों में बाल स्वास्थ्य सेवाओं (प्रसव पूर्व, प्रसवोत्तर और बाल चिकित्सा) तथा जराचिकित्सा सेवाओं का विस्तार करेंगे।
  7. हम निजी और सार्वजनिक नैदानिक प्रतिष्ठानों के कामकाज में जवाबदेही के लिए नैदानिक स्थापना अधिनियम, 2010 (Clinical Establishment Act) को लागू करेंगे।
  8. कांग्रेस वादा करती है कि निजता, गतिशीलता और अंतर-संचालन के उपयुक्त प्रावधानों के साथ एक मजबूत आईसीटी बुनियादी ढांचे की नींव पर चिकित्सा अभिलेखों के डिजिटाइजेशन  को बढ़ावा देगी और धीरे-धीरे अनिवार्य रूप से अमल में लायेगी।
  9. हम अंतर्राष्ट्रीय सर्वोत्तम प्रथाओं के आधार पर राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन नीति तैयार करने का वादा करते हैं।
  10. जनसंख्या अनुपात में भारत का वर्तमान चिकित्सक अनुपात 1:1681 है और जनसंख्या अनुपात में सरकारी चिकित्सक अनुपात 1:11,528 है। कांग्रेस ज्यादा से ज्यादा मेडिकल कॉलेजों की स्थापना करके, मेडिकल कॉलेजों की क्षमता बढ़ाकर और चिकित्सा शिक्षार्थियों को छात्रवृत्ति एवं शैक्षिक ऋण प्रदान करके विशेषज्ञ चिकित्सकों सहित डॉक्टरों की संख्या बढ़ाने का वादा करती है।
  11. कांग्रेस चिकित्सा पेशेवरों जैसे नर्सों, पैरामेडिक्स और मेडिकल तकनीशियनों को प्रशिक्षित करने और प्रमाणित करने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र और निजी क्षेत्र में पूर्व अर्हता प्राप्त संस्थानों को लाइसेंस देने का वादा करती है।
  12. हम स्वास्थ्य सेवाओं और विशेष रूप से निवारक स्वास्थ्य सेवाओं के प्रावधान में भारतीय चिकित्सा पद्धति  आयुषको बढ़ावा देंगे।
  13. कांग्रेस एक कार्यक्रम लागू करेगी, जो राज्य सरकारों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) के नेटवर्क को पुनः तैयार करने और सुसज्जित करने में सक्षम बनायेगा। पीएचसी निवारक उपायों और स्वास्थ्य सेवाओं सहित सभी प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करेगा और गंभीर चिकित्सा मामलों के लिए रेफरल केंद्र बनेगा।
  14. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि पीएचसी और सार्वजनिक अस्पतालों में सभी स्तरों पर सभी रिक्तियां 1 वर्ष की अवधि के भीतर भरी जाएं।
  15. हम आशा कार्यक्रम का विस्तार करेंगे और 2500 से अधिक आबादी वाले सभी गांवों में एक और आशा कार्यकर्ता की नियुक्ति करेंगे।
  16. कांग्रेस राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य नीति, 2014’ और ‘मानसिक स्वास्थ्य देखभाल अधिनियम, 2017’ को अक्षरशः लागू करने का वादा करती है। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी सार्वजनिक जिला अस्पतालों में मानसिक स्वास्थ्य पेशेवरों को नियुक्त किया जाए और ऐसे सभी अस्पतालों में मानसिक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएं।
  • काम

    रोजगार और विकास

  • दाम

    सबके हितार्थ अर्थव्यवस्था

  • शान

    हमारी दूरदर्शिता और ढृढ़शक्ति पर गर्व

  • सम्मान

    सभी के लिये सम्मानजनक जीवन

  • सुशासन

    स्वतंत्र और जवाबदेह संस्थानों की मदद से

  • स्वाभिमान

    वंचितों का आत्मसम्मान